सोनिया की मांग: गरीब मजदूरों के खाते में भेजे जाए ‌ साढ़े सात – सात हजार रुपए।

सोनिया की मांग-गरीब मजदूरों के खाते ...

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस वर्किंग कमिटी (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में कोरोना महामारी पर विशेष चिंता जाहिर करते हुए कहा कि पीपीआई किट की खराब क्वालिटी होने की वजह से देश में कोरोना टेस्टिंग पर्याप्त मात्रा में नहीं हो पा रही है,यह काफी चिंतनीय है। *•सोनिया का आरोप:* *सुझाव पर ध्यान नहीं दे रही है सरकार* • *सोनिया ने पीपीआई किट की कमी का भी मसला उठाया।* 
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इस मुश्किल हालात के वक्तसरकार और जनता के ध्यान को पीपीआई किट की कमी और खराब क्वालिटी की तरफ आकर्षित करने की कोशिश की है।कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में सोनिया गांधी ने पीपीआई किट की खराब क्वालिटी पर चिंता जाहिर की और साथ ही कहा कि देश में कोरोना टेस्टिंग अभी बहुत कम संख्या में हो रही है, यह काफी गंभीर विषय है।     *मोदी सरकार पर कसा*  *शिकंजा:-* मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि हमने कई बार प्रधानमंत्री से अपील की है कि टेस्टिंग के अलावा कोई और विकल्प नहीं है।इसके बावजूद भी टेस्टिंग कम हो रही है और पीपीआई भी अच्छे क्वालिटी के नहीं है। हमारे द्वारा दिए गए सुझावों पर सरकार किसी भी प्रकार की सक्रियता नहीं दिखाती हुई नजर आ रही है।• सोनिया की मांग बैठक में सोनिया गांधी ने गरीब मजदूरों एवं किसानों के प्रति अपनी चिंता व्यक्त करते हुए तुरंत उनके खाते में ₹7500 ट्रांसफर किए जाने की बात कही। उन्होंने मजदूरों को खाद सुरक्षा मुहैया कराने के लिए भी विशेष बात कही। सोनिया ने कहा कोरॉना वॉरियर्स एवं तमाम हेल्थ वर्कर जो बिना किसी जरूरी मेडिकल उपकरण के भी फील्ड में काम कर रहे हैं को सेल्यूट कर उनका हौसला बढ़ाना चाहिएकिसानों का मसला उठाते हुए सोनिया ने कहा कि लोग डाउन की वजह से सबसे ज्यादा क्षति देश के अन्नदाताओं को हुई है कमजोर एवं अस्पष्ट खरीद नीतियों के अलावा सप्लाई चैन में आ रही दिक्कतों ने किसानों को बेहाल कर दिया है उनकी समस्याओं को ध्यान रखते हुए जल्द से जल्द सरकार द्वारा आवश्यक कदम उठाए जाने चाहिए। खरीफ फसलों के लिए भी किसानों को विशेष सुविधाएं मुहैया होनी चाहिए।  सोनिया गांधी ने प्रवासी मजदूरों को जो बेरोजगार एवं घर लौटने को बेताब है को खाद्य सुरक्षा एवं वित्तीय सुरक्षा मुहैया कराने की बात कही है। उन्होंने यह भी कहा कि 3 हफ्तों में महामारी तेजी से बढ़ी है जो काफी चिंताजनक है।

2 thoughts on “सोनिया की मांग: गरीब मजदूरों के खाते में भेजे जाए ‌ साढ़े सात – सात हजार रुपए।”

  1. Aw, this was an actually nice message. In idea I want to place in composing like this additionally? requiring time and real initiative to make an excellent write-up? yet what can I state? I hesitate alot and by no means appear to get something done.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *